मार्च 23, 2018

ब्रोकर NordFX क्रिप्टो-ट्रेडर्स को क्या प्रस्तुत कर सकता है | ब्रोकर्स और क्रिप्टो एक्सचेंजेस के साथ क्रिप्टोकरंसीज़ के ट्रेडिंग की तुलना | लेवरेज अनुपात 1:1000 - ट्रेडर के लिए खुशियां या दु:स्वप्न

 

 

बहुत ज्यादा अस्थिरता से डरकर, जबकि कई ब्रोकर्स ने ज्यादातर क्रिप्टोकरंसीज की ट्रेडिंग को छोड़ दिया है, लेकिन ब्रोकरेज कंपनी NordFX ने इसके विपरीत अपने ग्राहकों को उनके खुद के फंड से ठीक 1000 गुना (!) ज्यादा का लेवरेज अनुपात दिया है। इस वजह से, बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरंसीज के साथ लेन-देन करने पर फायदा हजारों प्रतिशत तक पहुंच सकता है। लेकिन ऐसा केवल अनुभवी हाथों में ही हो सकता है। नौसिखियों के लिए, वे इस शक्तिशाली वित्तीय हथियार को आसानी से खुद के विरुद्ध कर सकते हैं।

ब्रोकर्स और एक्सचेंजेस के बीच मुख्य अंतर यह है कि पहले विकल्प के साथ व्यक्ति न केवल क्रिप्टोकरंसीज की कीमतों के ऊपर उठने बल्कि गिरने से भी लाभ कमा सकता है। उदाहरण के लिए, आपने एक्सचेंज पर $20,000 में बिटकॉइन खरीदें, और एक महीने के बाद यह गिरकर $10,000 तक आ गया, तो आपके पास दो विकल्प हैं: या तो इसे 50% की हानि के साथ बेच दो, या इंतजार करो, इस उम्मीद से कि बिटकॉइन की कीमत हमेशा ऊपर जाएंगी।

ब्रोकर्स की बात करें, कीमतों में अंतर के लिए किए गए करार - सीएफडी की वजह से, आप क्रिप्टोकरंसीज के गिरकर शून्य हो जाने पर भी लाभ कमा सकते हैं।

वित्त की दुनिया की कई अन्य चीजों की ही तरह, सीएफडी का आविष्कार इंग्लैंड में किया गया था, और शुरुआत में यह शेयर खरीदने/बेचने का लेन-देन था, वह भी उनके स्वामित्व का पंजीकरण कराए बिना, जिससे शुल्कों का भुगतान करने से बचने की सहूलियत मिलती थी।

 

स्वाभाविक तौर पर, ट्रेडिंग करने का यह तरीका जल्द ही प्रसिद्ध हो गया, और कीमतों में अंतर के लिए करार करना अन्य आस्तियों के लिए भी शुरू हो गया - करंसीज, बहुमूल्य धातु, उपयोगी वस्तु, और अब क्रिप्टोकरंसीज के लिए भी। इसमें, विक्रेता से क्रेता को इन आस्तियों का कोई असल स्थानांतरण नहीं किया जाता है। इसी वजह से इसमें कीमतें गिरने पर भी लाभ कमाना संभव हो पाता है।

इसे साधारण तरीके से समझे, तो कीमत में अंतर के लिए यह करार एक शर्त की तरह है, जो आप ब्रोकर के साथ करते हैं, मानो कि बिटकॉइन की कीमत बढ़ेगी या गिरेगी। इस स्थिति में, आप शर्त शुरू होने के पल को चुनते हैं, यानि, लेन-देन शुरू होने का समय और इसके खत्म होने का समय। और यह आप पर निर्भर करता है कि यह कितने समय तक चलेगा - एक मिनट या एक साल या और भी ज्यादा।

और अगर ऐसे पल में, जब बिटकॉइन $20,000 पर पहुंच गया है, आप यह निर्धारित करते हैं कि यह अधिकतम है और इसके आगे यह केवल गिरेगा, तो आप इसकी बिक्री के लिए सीएफडी लेन-देन खोल सकते हैं। $10,000 पर भी इसके बंद होने पर, आप नुकसान नहीं उठाएंगे बल्कि 50% का लाभ कमाएंगे।

 

लेकिन यह केवल इतना ही नहीं है, क्योंकि 1:1000 के लेवरेज अनुपात की वजह से, आपका लाभ संभवत: 50 नहीं, बल्कि 50,000% हो सकता है।

हम फ्रेशर्स को यह बता दें कि लेवरेज धन की वह रकम है, जो ब्रोकर वित्तीय बाजार में लेन-देन के लिए, स्वत: ही और किसी जमानत के बिना क्लाइंट को देता है। 1:1000 के लेवरेज अनुपात की सहायता से, ट्रेडर या निवेशक अपने खुद के फंड्स से 1000 गुना की रकम से लेन-देन कर सकते हैं।

इस तरह से, केवल $100 होने पर भी, आपको $100,000 तक के लिए सीएफडी लेन-देन करने का मौका मिलता है। यदि आप 10 बिटकॉइंस, 100 इथेरियम, 500 लिटकॉइंस या 100,000 रिपल्स खरीद सकते हैं। (अब तक, NordFX 6 प्रमुख क्रिप्टोकरंसीज पर ट्रेडिंग प्रस्तुत करता है)।  

 

यह ऐसा लगेगा कि बस एक ट्रेडिंग एकाउंट खोलना बाकी है, फिर उसमें सौ डॉलर्स रखिऐ और अपने अपार्टमेंट में एक खाली वार्डरोब लाइए जिसमें एक हफ्ते के बाद आप अपना पहला मिलियन रखेंगे। हालांकि, असल में, दुर्भाग्य से, यह उतना अच्छा है नही जितना पहली नजर में दिखाई देता है। तथ्य यह है कि अगर कीमत आपके विरुद्ध जाती हैं, तो जैसे ही यह हानि $100 पर पहुंचेगी, तो ब्रोकर तुरंत आपका लेन-देन बंद कर देगा। और यह लगभग तुरंत ही हो सकता है, क्योंकि केवल 0.1% में मूव करने पर ही इस कीमत पर पहुंच जाना पर्याप्त है।

यही बात बड़े लेवरेज के विरोधी हर समय कहते रहते हैं, इस बात पर ध्यान देते हैं कि इसकी वजह से अनिवार्य रूप से सारे फंड्स का नुकसान होगा।

हालांकि, कुछ कारण के लिए, केवल एक ट्रेडिंग 'कार्यनीति' है - जब एक ट्रेडर 1:1000 के अधिकतम लेवरेज अनुपात के साथ आपके डिपॉजिट की पूरी (!) करत के लिए सिंगल लेन-देन खोलता है। और इस स्थिति में, बहस करने की भी जरूरत नहीं, गिरावट की संभावना 100% या कम से कम 99.99% है।

लेवरेज बस एक टूल है, एक अतिरिक्त बोनस, और इसका प्रयोग करना है या नहीं करना है, यह निर्णय लेने का अधिकार ट्रेडर के पास है। और अगर इसका प्रयोग किया जाता है, तो किस हद तक। कोई भी किसी को भी कुछ करने के लिए जबरदस्ती नहीं करता है।

 

और अब एक बहुत सरल सा उदाहरण जो दिखाएगा कि ट्रेडिंग की सबसे कठिन परिस्थितियों में भी एक बड़ा लेवरेज किस प्रकार से उपयोगी हो सकता है।

मान लीजिए, $10,000 की वर्तमान कीमत से, आप 0.1 बिटकॉइन के वॉल्यूम के साथ एक लेन-देन करते हैं। लेवरेज के बिना ऐसी स्थिति को खोजने के लिए, आपको $1000 की रकम की जरूरत होगी। (व्यवहार में, हमें एकाउंट में ब्रोकर कमीशन लेने की भी जरूरत होती है।)

इस काम के लिए 1:1000 के इसी लेवरेज अनुपात के साथ आपको केवल एक डॉलर की जरूरत होती है। और $999 आरक्षित रखे जाएंगे कि यदि आपने लेन-देन की दिशा से कोई गलती कर दी हो तो, और कीमत आपके विरुद्ध चली जाए। इस स्थिति में, हानि करने की स्थितियों का औसत निकालने की विधि का भी प्रयोग करके, आपके पास इस नुकसान से बाहर निकलने और अंतत: लाभ कमाने का एक काफी बेहतर मौका है।

अगर कीमत वहां गई जहां आपको जरूरत है, तो आपका लाभ उतना ही होगा, लेवरेज के साथ या उसके बिना, क्योंकि इस लेन-देन का वॉल्यूम उतना ही था - 0.1 बिटकॉइन।

तो, चलिए दोहराते हैं: यह लेवरेज केवल एक टूल है, और यह पूर्णत: खुद ट्रेडर पर निर्भर करता है कि इसका प्रयोग कैसे करें, उसकी सावधानियों और उसके वित्तीय इच्छा पर (दूसरे शब्दों में, लालच पर, जिससे आमतौर पर कुछ भी अच्छा नहीें होता है)।

 

इसके अलावा, सीएफडी के साथ काम करते हुए, आप दूसरी उपयोगी चीज के बारे में नहीं भूल सकते हैं - अपने जोखिमों को रोकने की क्षमता, वह भी एक-साथ एक से ज्यादा लेन-देन खोलते हुए, कुछ बिटकॉइन खरीदने के लिए, और कुछ इसे बेचने के लिए। या, व्यक्ति एक ही समय पर कई क्रिप्टोकरंसीज का संचालन कर सकता है, कीमत की न्यूनतम उतार-चढ़ाव के साथ भी उनकी दरों में अंतर पर कमाते हुए, जो कि केवल बड़े लेवरेज की वजह से संभव है।

खैर, अंतत:, केक पर चेरी की तरह, हमें यह कहना चाहिए कि NordFX में क्रिप्टोकरंसीज पर ट्रेडिंग करना दुनिया के सबसे प्रसिद्ध ट्रेडिंग प्लेटफार्म मेटाट्रेडर4 पर किया जाता है। फाइनांस मैगनेट्स पत्रिका द्वारा किए गए हालिया सर्वे के अनुसार, ज्यादा ट्रेडर्स (61.44%) ट्रेड में तकनीकी विश्लेषण का प्रयोग करते हैं, और इसी वजह से इस प्लेटफार्म के लिए काफी संख्या में स्क्रिप्ट्स, इंडिकेटर्स और सलाहकार रोबोट्स का विकास किया गया है, जो न केवल ट्रेडिंग के फैसले लेने में मदद करते हैं, बल्कि पूरी तरह से स्वचालित मोड में ट्रेडिंग करने की सहूलियत भी देते हैं।

संभवत: उपरोक्त सभी बातें नए लोगों के लिए कुछ कठिन लगती है। लेकिन आप यह जान सकते हैं कि यह काम कैसे करता है, वह भी एक सिंगल पेनी का जोखिम लिए बिना। ऐसा करने के लिए, आपको बस NordFX में एक ट्रेनिंग एकाउंट खोलने की जरूरत है, फिर ट्रेडर्स के लिए एक सिमुलेटर शुरू कीजिए। ऑनलाइन ऐसा करना काफी आसान है, इस प्रक्रिया में केवल कुछ ही मिनट लगते हैं। और आपके असली पैसों के साथ काम करने का फैसला लेने के बाद, आप अपने ट्रेडिंग एकाउंट को पूरा करने में सक्षम होंगे, साथ ही फंड्स आहरित करने और इससे लाभ कमाने में भी, न केवल डॉलर में, बल्कि बिटकॉइन और इथेरियम में भी, जो न केवल सक्रिय ट्रेडर्स के हित में हैं, बल्कि उन निष्क्रिय निवेशकों के लिए भी, जो पहले केवल क्रिप्टो-एक्सचेंजेस के साथ काम किया करते थे।


« ट्रेडर की सहायक वस्तुएँ
प्रशिक्षण
प्राप्त करना
बाजार में नए हैं? प्रयोग करें “शुरूआत करना” खंड
प्रशिक्षण शुरू करें
हमारे साथ चलें (सोशल नेटवर्क में)